समाचार
पंजाब में राजनीतिक घमासान के बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रियंका गांधी वाड्रा से भेंट की

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के विरुद्ध विद्रोह छेड़ने वाले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार (30 जून) को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से भेंट की।

क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रियंका गांधी से एक दिन बाद भेंट की, जबकि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कह दिया था कि उनकी और सिद्धू के बीच कोई बैठक निर्धारित नहीं की गई थी।

मंगलवार दोपहर राहुल गांधी पत्रकारों से बात करने के लिए अपने घर से बाहर निकले। उनसे जब पूछा गया तो उन्होंने ऐसी किसी भी बैठक से मना कर दिया। उन्होंने कहा, “कोई ऐसी बैठक निर्धारित नहीं हुई है।”

आशा जताई जा रही थी कि राहुल, अमरिंदर सिंह के साथ चल रही तनातनी पर पूर्व क्रिकेटर को शांति का सूत्र देंगे लेकिन उनके बीच कोई भेंट ही नहीं हुई।

गत सप्ताह पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, सांसद प्रताप सिंह बाजवा और मनीष तिवारी ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। उन्होंने उन्हें राज्य की पार्टी में बढ़ती अंतर्कलह के बाद की स्थिति से अवगत करवाया था।

भेंट के बाद सुनील जाखड़ ने कहा था, “आशा है कि वर्तमान स्थिति का समाधान हो जाएगा। कुछ गलत लोग विधायकों के परिजनों को नौकरी देने के निर्णय पर मुख्यमंत्री को सलाह दे रहे हैं।”

उन्होंने कहा था कि सिद्धू के मुद्दे पर पार्टी नेतृत्व चर्चा कर रहा है। उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा पसंद न किए जाने वाले प्रताप सिंह बाजपा ने भी राहुल गांधी से भेंट की थी और कहा था कि उन्होंने राज्य की ज़मीनी सच्चाई और वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की।