समाचार
आतंकवाद के लिए जैश और लश्कर पुलवामा से चुनते हैं सर्वाधिक जिहादी- रिपोर्ट

सुरक्षा एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में स्थित जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी समूहों में 2018 और 2019 में कश्मीर के पुलवामा से सबसे ज़्यादा मात्रा में आतंकी शामिल हुए हैं, हिंदुस्तान टाइम्स  की खबर में बताया गया।

रिपोर्ट के अनुसार 2018 में पुलवामा में रहने वाले 63 लोग आतंकी समूहों में शामिल हुए थे और 2019 में दो लोगों के शामिल होने की खबर है। कश्मीर के शोपियां जिले से 2018 में 49 लोग आतंकी समूहों से जुड़े, वहीं इस साल एक भी व्यक्ति के जुड़ने की खबर नहीं आई है। पुलवामा के बाद शोपियां से सबसे ज़्यादा लोग आतंकी समूहों में शामिल होते हैं।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 2019 में मारे जाने वाले आतंकियों में सबसे ज़्यादा आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के थे। सुरक्षा बलों ने 2019 में जैश-ए-मोहम्मद के 15 आतंकियों को मार गिराया, वहीं हिज़्बुल मुजाहिद्दीन और लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकियों को मार गिराया।

2018 में जैश-ए-मोहम्मद ने कश्मीर से 33 लोगों को अपने समूह में शामिल किया, वहीं हिज़्बुल मुजाहिद्दीन ने 79 और लश्कर-ए-तैयबा ने 66 लोगों को अपने समूह में शामिल किया था।