समाचार
पुलवामा हमला- एनआईए ने अमेजॉन की मदद से विस्फोटक सामग्री बनाने वाले को पकड़ा

पिछले साल फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जाँच के लिए राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने ऑनलाइन वेबसाइट अमेजन की मदद ली। इसके बाद शुक्रवार को श्रीनगर से आईईडी ब्लास्ट में उपयोग होने वाली सामग्री मंगवाने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, एनआईए के संपर्क करने के बाद भारत स्थित अमेजन के दफ्तर ने सामग्री खरीदने वाले के ऑनलाइन खाते की जानकारी साझा की। इसके आधार पर ही श्रीनगर के रहने वाले वैज-उल-इस्लाम को गिरफ्तार कर लिया गया।

इसके अलावा, एनआईए ने आत्मघाती हमलावर आदिल अहमद डार सहित पुलवामा हमले के षड्यंत्रकारियों को पनाह देने के अपराध में पुलवामा के मोहम्मद अब्बास राथर को भी गिरफ्तार किया है।

पूछताछ में वैज ने बताया, “उसने अपने अमेजन शॉपिंग अकाउंट के इस्तेमाल से पाकिस्तान में बैठे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के निर्देश पर आईईडी बनाने के लिए अमोनियम पाउडर जैसे रसायन, बैट्री, सहित अन्य वस्तुएँ मंगवाई थीं। ऑनलाइन सभी चीज़ें मंगवा लेने के बाद उसने खुद ही जैश के आतंकियों को उसे सौंपा, जिन्होंने उसका इस्तेमाल पुलवामा हमले में किया।”

जैश के आतंकी रह चुके अब्बास ने पूछताछ में बताया, “उसने अप्रैल-मई 2018 में कश्मीर में आने के बाद आईईडी एक्सपर्ट मोहम्मद उमर को अपने घर पर पनाह दी थी। उसने आदिल अहमद डार, समीर अहमद डार और पाकिस्तानी आतंकी कामरान को कई बार अपने घर में रखा। उसने आतंकियों को ठहराने के लिए पुलवामा के तारिक अहमद शाह के घर का उपयोग किया था, जिसे बेटी इंशा के साथ गिरफ्तार किया जा चुका है।

वैज और अब्बास को जम्मू में एनआईए की अदालत में पेश किया जाएगा। अब तक पुलवामा मामले में पाँच लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। इनमें आत्मघाती हमलावर डार को घटनास्थल तक ले जाने वाला शाकिर बशीर मागरे भी शामिल है।