समाचार
पुलवामा हमला- भारत आतंकियों की जानकारी के लिए पाकिस्तान भेजेगा न्यायिक अनुरोध

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गत वर्ष हुए सीआरपीएफ के काफिले पर हमले में शामिल आतंकवादियों की जानकारी साझा करने के लिए भारत पाकिस्तान को कानूनी तौर पर कहेगा।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले से जुड़े लोगों ने बताया, “राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) द्वारा औपचारिक न्यायिक अनुरोध तैयार किया गया है। इसके माध्यम से पाकिस्तान से पुलवाला हमले में शामिल सात आरोपियों के संबंध में जानकारी मांगी जाएगी।”

गृह मंत्रालय द्वारा कागज़ातों को अंतिम रूप देने में दिसंबर के आखिर तक का समय लग सकता है। इसके बाद न्यायालय से पाकिस्तान को न्यायिक अनुरोध भेजने की अनुमति मांगी जाएगी। पड़ोसी देश से जाँच में सहयोग के लिए भेजा जाना वाला यह पहला न्यायिक अनुरोध होगा।

वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया, “अजहर, असगर, अतहर और अल्वी के ठिकानों के अलावा भारत उनके और अन्य लोगों के बीच वॉट्सैप चैट, वॉयस नोट और वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (वीओआईपी) और पाकिस्तान से किए गए कॉल सहित अन्य विवरणों की जानकारी चाहता है। उमर फारूक के फोन से मिली तस्वीरों व वीडियो में पुलवामा हमले की तैयारी के विभिन्न चरण दर्शाए गए हैं।”

हमले के सात आरोपियों में से चार पाकिस्तान में हैं। इसमें मौलाना मसूद अजहर, उसका भाई अब्दुल रऊफ असगर, इब्राहिम अतहर और उसका चचेरा भाई अम्मार अल्वी शामिल है। हमले को अंजाम देने के लिए भारत आए तीन आरोपियों में अहतर का बेटा उमर फारूक, कामरान (दोनों को पुलवामा हमले के बाद सुरक्षाबलों ने मार गिराया) और इस्माइल उर्फ सैफुल्ला शामिल हैं, जिसके घाटी में छिपे होने की बात सामने आ रही है।