समाचार
“तीनों कृषि कानून वापस नहीं होते, तब तक खाली नहीं करेंगे प्रदर्शन स्थल”- राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) प्रमुख राकेश टिकैत ने फिर से जोर देकर कहा है कि जब तक तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लिया जाता है, तब तक असंतुष्ट किसान विरोध स्थलों को खाली नहीं करेंगे।

राकेश टिकैत ने आम सहमति से जवाब देते हुए कहा, “किसान अपने घर में हैं। हम उन्हें और कहाँ जाने के लिए कहेंगे? क्या कोरोना यहाँ से फैल रहा है? हम पिछले 5 महीनों से यहाँ रह रहे हैं, यह अब हमारा घर है।” दरअसल, नई दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के समूहों का देश में तेज़ी से फैल रहे कोविड-19 की बिगड़ती स्थिति के बीच बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि कई प्रदर्शनकारी किसानों ने कोविड-19 का टीका लगवा लिया है। हालाँकि, उन्होंने आरोप लगाया कि उनमें से कई अपनी टीके की दूसरी खुराक पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

इस बीच, किसान नेता ने हाल ही में किए गए इफ्तार समारोह को लेकर किसी भी दावे का जोरदार विरोध किया। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने महामारी को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन नहीं किया है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि उस इफ्तार पार्टी में सभी लोगों ने सामाजिक दूरी बनाए रखी थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से टिकैत ने कहा, “सरकार द्वारा 50 लोगों के एकत्रित होने की अनुमति दी गई है। 22 से 35 लोग ही समारोह में थे। कोई भी एक-दूसरे से नहीं मिला और किसी ने भी हाथ नहीं मिलाया था।”