समाचार
खालिस्तान संगठन ने तिरंगा फहराने पर पंजाब के मुख्यमंत्री सिंह को दी मारने की धमकी

खालिस्तान सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) संगठन से संबंध रखने वाले गुरपतवंत सिंह पन्नू ने धमकी दी है कि यदि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारतीय तिरंगा फहराते हैं तो उनकी हत्या कर दी जाएगी।

पन्नू को कथित तौर पर एक ऑडियो क्लिप में यह कहते हुए सुना गया था, “हमारे किसान मर रहे हैं। ऐसे में 15 अगस्त को तिरंगा फहराना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।”

न्यूज ट्रैक लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी पन्नू ने फोन के जरिए ऐसी ही धमकी दी है। इसके अतिरिक्त, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर को भी ऐसी ही चेतावनियाँ दी गई हैं।

पन्नू के नाम से उत्तर प्रदेश पुलिस को फोन कर कहा गया कि आने वाले स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराने दिया जाएगा।

इसके बाद शिमला के साइबर पुलिस स्टेशन में गुरपतवंत सिंह पन्नू के विरुद्ध देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया था। मुख्यमंत्री खट्टर को धमकी देने के बाद गुरुग्राम के साइबर क्राइम थाने में एसएफजे समर्थक के विरुद्ध एक और देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है।

अलगाववादी समूह किसानों के विरोध का मुखर समर्थक रहा है और अक्सर इस मुद्दे पर देश में अशांति फैलाने की धमकी देता रहा है।