समाचार
प्रियंका चतुर्वेदी कांग्रेस छोड़ शिव सेना में सम्मिलित, कहा दुर्व्यवहार से थीं आहत

शुक्रवार (19 अप्रैल) को कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने पार्टी को अपना इस्तीफा दे दिया है। उनकी शिकायत है कि मथुरा में एक प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के नेता ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया था और इसकी शिकायत करने के बाद भी उस नेता को पार्टी द्वारा कुछ नहीं कहा गया।

प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने त्याग पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को संबोधित करते हुए अपना फैसला सुनाया है और यह त्याग पत्र उन्होंने अपने ट्विटर पर भी साझा किया है।

इस पत्र में प्रियंका ने कांग्रेस को धन्यवाद कहा है कि पार्टी ने उन्हें इतने सारे कार्य करने का अवसर दिया और महत्त्वपूर्ण पद भी दिए और इसी के साथ उन्होंने बताया कि किश तरह उन्होंने अपने इस राजनीतिक कार्यकाल में पार्टी के लोगों से दुर्व्यवहार सहा है।

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में उन्होंने देखा कि उनकी सभी सेवाएं व्यर्थ गई हैं, ख़ासकर तब जब उन्होंने पार्टी के नेता के खिलाफ दुर्व्यवहार की शिकायत की और पार्टी ने उस पर ध्यान नहीं दिया।

एक रिपोर्ट के अनुसार मथुरा में एक प्रेस वार्ता के दौरान उनसे किए गए दुर्व्यवहार के बाद उन नेताओं को पार्टी से निकाल दिया गया पर बाद में उन्हें वापिस भी ले लिया गया और यह कहा गया कि पार्टी में लोकसभा चुनावों के समय पुरुषों की आवश्यकता है।

सूत्रों के अनुसार प्रियंका शिव सेना के नेताओं के साथ संपर्क में थी और आज उन्होंने कांग्रेस छोड़ने के बाद शिव सेना की सदयस्ता हासिल क्र ली है।