समाचार
मनमोहन सिंह से ज्यादा विदेश यात्राएँ, फिर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खर्च कम

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी किए गए डाटा से पता चला है नरेंद्र मोदी ने अपने किसी भी पूर्ववर्ती से अधिक विदेश यात्राएँ की हैं लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री की तुलना में इन यात्राओं पर खर्च कम हुआ है।

हिंदुस्तान टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, 2009 से 2014 के बीच रही यूपीए-2 सरकार के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से छह यात्राएँ ज्यादा कर अब तक प्रधानमंत्री मोदी ने कुल 44 विदेश यात्राएँ की हैं। हालांकि, मनमोहन सिंह की कम विदेश यात्राओं के बावजूद मोदी का कुल खर्चा उनसे 50 करोड़ रुपये कम आया है। मनमोहन सिंह ने 2009-2014 के अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान कुल 38 विदेश यात्राएँ की थीं। इनमें उनका कुल खर्च 493.22 करोड़ रुपये आया था। एयर इंडिया द्वारा प्रधानमंत्री मोदी की विदेश यात्राओं का बिल 443.4 करोड़ रुपये बताया गया है।

हालाँकि, इस खर्च में अभी तक मोदी की पाँच अन्य विदेश यात्राएँ नहीं शामिल की गई हैं। एयर इंडिया ने यात्राओं का बिल पीएमओ को भेज दिया है, जिसका भुगतान किया जाएगा। अगर एयर इंडिया द्वारा भेजे गए बिल में पाँच विदेश यात्राओं के बिल और इसी महीने यूएई में प्रधानमंत्री मोदी को मिलने वाले सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार की यात्रा का बिल जोड़ दिया जाए तो यह मनमोहन सिंह की यात्रा खर्चों से भी ज्यादा होगा। इसके अलावा, मोदी ने नेपाल, बांग्लादेश, ईरान और सिंगापुर की यात्रा भारतीय वायुसेना के बिज़नेस जेट से की थी, जिसका बिल इसमें नहीं जोड़ा गया है।

मोदी की विदेश यात्राओं में होने वाले कम खर्च की वजह उनके द्वारा एक ही यात्रा के दौरान कई देशों की यात्रा करना बताया जा रहा है। मोदी ने अपने कार्यकाल में कई ऐसी विदेश यात्राएँ की हैं, जिनमें दो या दो से अधिक देशों की यात्राएँ शामिल हैं। सेंट्रल देशों की यात्राओं में मोदी ने एक साथ छह देशों उज्बेकिस्तान, कजाखिस्तान, रूस, तुर्कमेनिस्तान, किर्गिस्तान और तजाकिस्तान की यात्रा की थी।