समाचार
राजस्थान में भूमि विवाद में पुजारी को जिंदा जलाकर मारने वाला मुख्य आरोपी गिरफ्तार

राजस्थान के करौली जिले के बुकना गाँव में गुरुवार (8 अक्टूबर) को मंदिर के भूमि विवाद में कुछ लोगों ने कथित रूप से पुजारी को जिंदा जला दिया। पीड़ित को आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहाँ उसकी मौत हो गई। पुलिस ने मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, करौली के एसपी ने कहा, “मरने से पूर्व मंदिर के पुजारी बाबूलाल ने अस्पताल में पुलिस को बयान दिया था। इसमें उन्होंने आरोपी कैलाश मीणा और उसके बेटों सहित कुछ प्रभावशाली लोगों का नाम लिया। बताया कि भूमि को अतिक्रमण करने की कोशिश और विवाद के दौरान उसके बाड़े को आग लगा दी गई, जिससे वह गंभीर रूप से जल गया।”

बयान में बताया गया कि आरोपी कैलाश, शंकर और नमो मीणा ने उसके बाड़े में कब्जा कर लिया था। पंच-पटेलों ने पुजारी के अलावा किसी अन्य व्यक्ति की ओर से मंदिर की भूमि पर कब्जा ना करने का फरमान दिया था। इसके बाद बुधवार को कैलाश, शंकर, नमो, किशन, रामलखन परिवार ने उसके बाड़े पर कब्जा कर छप्पर तानने लग गए थे।

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने पुजारी के बयान पर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपी अभी फरार है, जिनकी तलाश के लिए अलग-अलग टीम बना दी गई है। एफएसएल की टीम ने भी मौके पर पहुँचकर सबूत एकत्रित किए हैं।