समाचार
“चीन की कार्रवाई पूर्व नियोजित और योजनाबद्ध”- विदेश मंत्री जयशंकर, फोन पर की बात
आईएएनएस - 17th June 2020

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बुधवार (17 जून) को अपने चीनी समकक्ष के साथ फोन पर बातचीत में उनसे कहा, “पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अभूतपूर्व हिंसा की घटनाओं के मद्देनज़र वे अपनी कार्रवाई की समीक्षा करें और सुधारात्मक कदम उठाएँ।”

जयशंकर और चीन के राज्य पार्षद और विदेश मंत्री वॉन्ग यी ने बुधवार दोपहर को फोन पर बातचीत कर एलएसी की स्थिति पर चर्चा की, जहाँ सोमवार को हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक समेत अज्ञात संख्या में चीनी सैनिक मारे गए थे।

हालाँकि, बीजिंग में सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि चीन के स्टेट काउंसिलर ने जयशंकर के साथ फोन पर भारत को घटना की जाँच करने और जिम्मेदारों को दंडित करने को कहा है। साथ ही उन्होंने क्षेत्र में भारत के सैन्य बलों को किसी भी उत्तेजक कार्रवाई को रोकने लिए प्रतिबंधित करने को भी कहा।

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, जयशंकर प्रसाद ने अपने समकक्ष के साथ बातचीत में चीन पर पूर्व नियोजित और योजनाबद्ध कार्रवाई करने का आरोप लगाया, जो घटनाओं के अनुक्रम के लिए जिम्मेदार है। उनकी कार्रवाई से यह स्पष्ट होता है कि वह यथास्थिति को नहीं बदलना चाहते हैं और सभी समझौतों का उल्लंघन कर जमीनी तथ्य बदलना चाहते हैं। यह भी दोहराया गया कि इस घटना से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा।

जयशंकर ने वॉन्ग को कहा कि दोनों पक्षों को उस सहमति का पालन करना चाहिए, जिस पर दोनों देशों के सैन्य कमांडर 6 जून को सहमत हुए थे। दोनों देशों को द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। फोन पर बातचीत इस सहमति के साथ समाप्त हुई कि दोनों पक्ष स्थिति को आगे बढ़ने से रोकने के लिए कोई कार्रवाई नहीं करेंगे और शांति सुनिश्चित करेंगे।