समाचार
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में नहीं हो रहा सुधार, अब भी वेंटिलेटर पर

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सेहत में शनिवार को भी कोई सुधार नहीं हुआ है। उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। वह 10 अगस्त को कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे। उनकी सैन्य रिसर्च एवं रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल में मस्तिष्क की सर्जरी हुई थी।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, अस्पताल ने कहा, “प्रणब मुखर्जी की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आ रहा है। विशेषज्ञों की एक टीम उनकी बारीकी से निगरानी कर रही है।”

शुक्रवार को भी 84 साल के प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई बदलाव नहीं देखा गया था। अस्पताल ने कहा था कि मुखर्जी कोमा में हैं। वह 10 अगस्‍त को कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद हुई जाँच में पाया गया था कि उनके मस्तिष्‍क में खून का थक्‍का जमा है। उसे निकालने के लिए सेना के अस्‍पताल में ब्रेन सर्जरी भी हुई थी। उसके बाद से ही वे वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।

बता दें कि इससे पूर्व, प्रणब मुखर्जी के निधन की अफवाह फैल गई थी। इस पर सांसद और उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने नाराज़गी जताई थी। उन्होंने ट्वीट किया था, “मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी अब भी जिंदा है और हेमोडायनामिक तौर पर स्थिर हैं। कई वरिष्ठ पत्रकारों के सोशल मीडिया पर गलत खबरें फैलाने से स्पष्ट हो गया है कि भारत में मीडिया फर्जी खबरों की एक फैक्ट्री बन गई है।”