समाचार
दुष्कर्म के आरोपी बिशप फ्रैंको को नोटिस जारी करने वाले पुलिस अधिकारी का स्थानांतरण

दुष्कर्म के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के विरुद्ध नोटिस जारी करने वाले करने वाले पुलिस अधिकारी का केरल सरकार ने स्थानांतरण कर दिया है।

द न्यूज़ मिनट की रिपोर्ट के अनुसार, बिशप के कहने पर उत्तरजीविका नन को एक स्थानीय यूट्यूब चैनल ने प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। इसकी शिकायत नन ने कुराविलंगड़ पुलिस थाने में की थी जो वायकॉम पुलिस को जाँच के लिए सौंप दिया गया था।

जाँच के दौरान वायकॉम थाना प्रभारी मोहनदास ने बिशप फ्रैंको से सवाल पूछते हुए कहा था, “क्यों न पीड़िता को प्रताड़ित करने के लिए उनकी जमानत याचिका पर रोक लगा दी जाए?” फ्रैंको को इस तरह का नोटिस देने पर पुलिस अधिकारी के विरुद्ध दूसरे मुकदमे को लेकर राज्य सरकार ने कार्रवाई करते हुए स्थानांतरण कर दिया है।

एक पत्र में उत्तरजीविका नन ने कहा, “बिशप फ्रैंको के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के बाद, क्रिश्चियन टाइम्स नामक एक यूट्यूब चैनल लगातार मुझे और मेरे साथी बहनों को बदनाम कर रहा है। हमें संदेह है कि चैनल बिशप फ्रैंको और उसके साथी कार्यकर्ताओं द्वारा चलाया जाता है।”

‌इस विषय में उन्होंने राज्य एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के साथ-साथ राज्य मानवाधिकार आयोग को भी पत्र लिखा है। इसके प्रत्युत्तर में राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा एमसी जोसेफिन ने कहा है कि उत्तरजीविका नन और उनकी साथियों को सोशल मीडिया पर बदनाम करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।