समाचार
पीएनबी ने डीएचएफएल के ₹3,689 करोड़ की धोखाधड़ी की रिपोर्ट आरबीआई को सौंपी

पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) के एनपीए खाते में 3,689 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी की रिपोर्ट भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) को सौंपी है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, पीएनबी ने शेयर बाज़ार को दी सूचना में कहा, “बैंक पहले ही तय मानदंडों के तहत धोखाधड़ी के लिए 1246.58 करोड़ रुपये का प्रावधान कर चुका है।”

डीएचएफएल ने अपनी अन्य मुखौटा कंपनियों के जरिए कुल 97,000 करोड़ रुपये के बैंक कर्ज में 31,000 करोड़ रुपये की हेराफेरी की थी। आरबीआई ने गत वर्ष नवंबर में कंपनी को ऋण शोधन कार्रवाई के लिए नोटिस भी भेजा था।

कर्ज समाधान को लेकर एनसीएलटी (राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण) जाने वाली यह पहली वित्तीय सेवा कंपनी है। इसमें गत वर्ष नियमों के कथित उल्लंघन की रिपोर्ट के बाद एसएफआईओ (गंभीर धोखाधड़ी जाँच कार्यालय) समेत विभिन्न एजेंसियों ने उसके खिलाफ जाँच शुरू की थी।

उधर, पंजाब एंड सिंध बैंक ने शुक्रवार (10 जुलाई) को महा एसोसिएटेड होटल्स के एनपीए खाते को धोखाधड़ी वाला घोषित किया। बैंक ने शेयर बाज़ार को बताया कि संबंधित ऋण खाते में 71.18 करोड़ रुपये का बकाया है। बैंक ने इसकी सूचना आरबीआई को भी दे दी है। अब वह सीबीआई के पास एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया में हैं।