समाचार
प्रधानमंत्री मोदी का चीन पर निशाना- “वैश्विक आपूर्ति शृंखला भरोसे पर आधारित हो”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (4 सितंबर) को यूएस-इंडिया स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) के तीसरे लीडरशिप शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “कोविड-19 ने यह बताया है कि वैश्विक आपूर्ति शृंखला सिर्फ लागत पर नहीं बल्कि भरोसे पर आधारित होनी चाहिए।” उन्होंने इशारों में चीन पर हमला बोलते हुए दुनिया को उससे आगाह किया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने संबोधन में कहा, “भारत ऐसा देश है, जहाँ सारे गुण मौजूद हैं। हम विदेश में आकर्षक जगह बनकर उभरे हैं। अमेरिका से लेकर खाड़ी देश हम पर विश्वास कर रहे हैं। अमेज़ॉन, गूगल जैसी कंपनियाँ भारत के लिए दीर्घकालिक नीतियों की घोषणा कर रही हैं।”

उन्होंने महामारी के दौरान सामाजिक सुरक्षा, गरीबों की रक्षा के लिए सरकार द्वारा उठाए कदमों का उल्लेख किया और आत्मनिर्भर भारत बनाने के प्रति प्रतिबद्धता जताई। नरेंद्र मोदी ने कहा, “वैश्विक महामारी ने हर चीज़ को प्रभावित किया लेकिन भारतीयों की उम्मीदों और आकांक्षाओं को प्रभावित नहीं कर पाई।”

उन्होंने कहा, “कोरोनावायरस से बचाव के लिए देश में रिकॉर्ड समय में स्वास्थ्य सुविधाएँ बढ़ाई गईं। हमारा लक्ष्य गरीबों की देख-रेख पर रहा। दुनिया की सबसे बड़ी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना संचालित हुई। इससे 80 करोड़ लोगों को मुफ्त भोजन दिया जा रहा है। रिकॉर्ड समय में मेडिकल इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया गया। कोविड अस्पताल, आईसीयू की सुविधाएँ बढ़ाई गईं। जनवरी में सिर्फ एक कोविड टेस्टिंग लैब थी, इस समय देश में करीब 1600 लैब हैं।”