समाचार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में की देश की पहली चालक रहित मेट्रो सेवा की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सोमवार (28 दिसंबर) को देश को बिना चालक के चलने वाली पहली मेट्रो की सौगात दी। दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर चालक रहित मेट्रो को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) सेवा की भी शुरुआत की।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “मुझे तीन वर्ष पूर्व मजेंटा लाइन के उद्घाटन का अवसर मिला था। अब फिर इसी लाइन पर देश की पहली चालक रहित मेट्रो के उद्घाटन का सौभाग्य मिला है। यह दर्शाता है कि भारत तेज़ी से स्मार्ट सिटी की ओर अग्रसर हो रहा है।”

उन्होंने कहा, “एनसीएमसी सेवा से भी मेट्रो जुड़ रही है। गत वर्ष अहमदाबाद में इसकी शुरुआत हुई थी। आज इसका विस्तार दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर हुआ है।”

प्रधानमंत्री ने प्रस्तावित दिल्ली-मेरठ आरआरटीएस के मॉडल पर कहा, “यह दिल्ली और मेरठ की दूरी को घटाकर एक घंटे से भी कम कर देगा। उन शहरों में जहाँ यात्री संख्या कम है, वहाँ मेट्रोलाइट संस्करण पर काम हो रहा है। ये सामान्य मेट्रो की 40 प्रतिशत लागत से ही तैयार हो जाती है। वहीं, जिन शहरों में यात्री और भी कम हैं, वहाँ मेट्रो नियो पर काम हो रहा है। यह सामान्य मेट्रो की 25 प्रतिशत लागत से ही तैयार हो जाती है।”

आखिर में उन्होंने कहा, “2014 में सिर्फ पाँच शहरों में मेट्रो थी। आज 18 शहरों में यह सेवा है। 2025 तक इसका हम 25 से अधिक शहरों तक विस्तार करने वाले हैं।” इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी उपस्थित रहे।