समाचार
“जन औषधि केंद्रों से गरीबों की कुल 2,500 करोड़ रुपये की बचत हुई”- प्रधानमंत्री मोदी

जन औषधि दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जन औषधि केंद्रों के लाभार्थियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया। उन्होंने जन औषधि दिवस और होली पर उन्हें बधाई दी। साथ ही कोरोनावायरस का जिक्र करते हुए कहा, “आज पूरी दुनिया नमस्ते कर रही है। अब हाथ मिलाने की जगह देशवासी नमस्ते की आदत डालें।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा, “आज हफ्तेभर मनाए जा रहे जन औषधि का आखिरी दिन है। यह दिवस सिर्फ एक योजना को मनाने का दिन नहीं है बल्कि उन करोड़ों परिवारों के साथ जुड़ने का है, जिनको इस योजना से बहुत राहत मिली है।”

उन्होंने कहा, “हम हर भारतीय के स्वास्थ्य के लिए चार सूत्रों पर काम कर रहे हैं। जन औषधि योजना इसी की एक अहम कड़ी है। मुझे संतोष है कि अब तक 6,000 से अधिक जन औषधि केंद्र पूरे देश में खुल चुके हैं।”

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “इस योजना की वजह से लोगों पर पहले की तुलना में इलाज में खर्च का कम बोझ पड़ रहा है। मुझे पता चला है कि पूरे देश में करोड़ों गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों को 2,000-2,500 करोड़ रुपये की बचत जन औषधि केंद्रों के कारण हुई है।”

कोरोनावायरस को लेकर नरेंद्र मोदी ने कहा, “सभी लोगों को मास्क, ग्लव्स पहनने चाहिए और दूसरों से कुछ दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसे वक्त में अफवाह भी तेजी से फैलती हैं। इनसे बचें और चिकित्सक की सलाह से कोई भी कदम उठाएँ। अगर हमने किसी वजह से नमस्ते की आदत छोड़ दी है तो उसे फिर से डाल लें। पूरी दुनिया अब इसे अपना रही है।”