समाचार
पाकिस्तान के जवाब में प्रधानमंत्री मोदी बोले, “हमारे हक का पानी पड़ोसी देश में नहीं बहेगा”

पाकिस्तान की पानी को लेकर दी गई चेतावनी के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा, “अब भारत के हक का पानी पाकिस्तान में नहीं बहेगा। मैं जो ठान लेता हूँ, उसे करके ही रहता हूँ।” इससे पहले पड़ोसी देश ने भारत को चेतावनी दी थी कि अगर पानी का रास्ता बदलने की कोशिश की तो उसे आक्रामक कार्रवाई माना जाएगा।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, हिसार में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “मैं हिसार के लोगों से कहना चाहता हूँ कि आपके हक का पानी अब पाकिस्तान में नहीं बहेगा। अगर मोदी यह कह रहा है तो करके रहेगा। इसके लिए हमने ज़रूरी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।”

उन्होंने कहा, “जल जीवन मिशन के तहत अगले पाँच वर्षों में पानी के लिए हर संभव कोशिश की जाएगी। हम इसके लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करने की योजना बना रहे हैं, ताकि किसी को पानी की कमी ना हो। हमारी कोशिश है कि किसानों को पानी के लिए मौसम पर निर्भर न रहना पड़े।”

“प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा , गाँवों के परंपरागत जल स्रोतों को सही किया जाएगा। साथ ही एक ऐसा सिस्टम तैयार किया जाएगा, जिससे घरों से निकलने वाला पानी फिर से सिंचाई के काम में लाया जा सके। उम्मीद है कि 2024 तय यह योजना देश में सफल हो जाए।”