समाचार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिश्केक में शी जिनपिंग से भेंट कर उठाया आतंकवाद का मुद्दा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन से इतर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद का मुद्दा उठाया।

पीटीआई  की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों नेताओं के बीच हुई संक्षिप्त बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “भारत चाहता है कि पाकिस्तान आतंकवाद मुक्त क्षेत्र बनाने की कोशिश करे लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है। हम चाहते हैं कि पाकिस्तान आतंकवाद पर कोई ठोस कार्रवाई करे। जब तक पड़ोसी देश ऐसा नहीं करेगा, तब तक उससे बात नहीं होगी।”

इसकी जानकारी देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा, “मुलाकात में प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति को अगले अनौपचारिक सम्मेलन के लिए भारत आने का निमंत्रण दिया है। इस साल भारत और चीन संबंधों के 70 साल पूरे हो रहे हैं। दोनों देशों के बीच 70 कार्यक्रम का प्रस्ताव रखा गया है। इनमें 35-35 कार्यक्रम क्रमश: भारत और चीन में होने का प्रस्ताव है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट कर कहा, “चीन के राष्ट्रपति के साथ एक सफल मुलाकात हुई। हमारी बातचीत में भारत-चीन संबंधों पर गंभीर चर्चा हुई। दोनों देशों के बीच आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूत करने की कोशिश की जाएगी।”

उधर, सम्मेलन में मौजूद होने के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से बात नहीं की। इस पर इमरान खान ने कहा, “भारत और पाकिस्तान के संबंध अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं। उन्होंने आशा जताई कि कश्मीर सहित सभी मतभेदों को हल करने के लिए नरेंद्र मोदी अपने पूर्ण बहुमत का उपयोग करेंगे।”