समाचार
केबल संपर्क के उद्घाटन से अंडमान-निकोबार को मिलेगी बेहतर इंटरनेट सुविधा

चेन्नई और पोर्ट ब्लेयर के बीच समुद्र के अंदर बिछाई गई केबल संपर्क सुविधा (ओएफसी) का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सोमवार (10 अगस्त) को उद्घाटन किया। इसकी आधारशिला उन्होंने 30 दिसंबर 2018 को रखी थी।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “ऑनलाइन पढ़ाई से लेकर, टूरिज़्म, बैंकिंग, शॉपिंग, ऑनलाइन दवाइयों तक की सुविधा अब अंडमान-निकोबार के लोगों को मिल सकेगी। इसका बड़ा लाभ वहाँ जाने वाले पर्यटकों को मिलेगा। बेहतर नेट कनेक्टिविटी आज किसी भी पर्यटन स्थल की प्राथमिकता हो गई है।”

उन्होंने कहा, “जितना बड़ा प्रोजेक्ट था, उतनी ही बड़ी चुनौतियाँ भी थीं। मुझे खुशी है कि सारी रुकावटों को किनारे करके इस काम को पूरा किया गया। समंदर के भीतर करीब 2300 किमी तक केबल बिछाने का ये काम समय से पहले पूरा करना प्रशंसनीय है। गहरे समंदर में सर्वे करना, केबल की क्वालिटी मेनटेन रखना, विशेष जहाजों के जरिये केबल को बिछाना आसान नहीं था।”

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “अंडमान-निकोबार को बाकी देश और दुनिया से जोड़ने वाला ये ऑप्टिकल फाइबर प्रोजेक्ट जीवन जीने के आसान तरीके के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का प्रतीक है। चेन्नई से पोर्ट ब्लेयर, पोर्ट ब्लेयर से लिटिल अंडमान और पोर्ट ब्लेयर से स्वराज द्वीप तक अंडमान-निकोबार के एक बड़े हिस्से में ये सेवा आज से शुरू हो चुकी है। यह वहाँ के लोगों के लिए महत्वपूर्ण दिन है।”