समाचार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एलएसी पर चीन से बढ़ते गतिरोध पर उच्चस्तरीय बैठक की

लद्दाख स्थित वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन से बढ़ते गतिरोध को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उच्च स्तरीय बैठक की। इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, रक्षा प्रमुख (सीडीएस) और तीनों सेनाओं के प्रमुख शामिल थे।

न्यूज-18 की रिपोर्ट के अनुसार, बैठक के अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला से अलग से इस मसले पर बातचीत की। इससे पूर्व, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी सीडीएस और तीनों सेना प्रमुखों के साथ समीक्षा बैठक कर चुके थे। लद्दाख का दौर कर लौटे सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवाणे ने उन्हें स्थिति की जानकारी दी थी। इस पर रक्षा मंत्री ने सैनिकों की तैनाती पर सवाल पूछे और चीन से तनाव के खिलाफ भारतीय सैनिकों का पूरा सहयोग करने का भरोसा दिया था।

भारतीय सेना के शीर्ष सैन्य कमांडर बुधवार से शुरू हो रहे तीन दिवसीय सम्मेलन के दौरान पूर्वी लद्दाख के कुछ इलाकों में भारत और चीनी सैनिकों के बीच तनावपूर्ण गतिरोध की गहन समीक्षा करेंगे। सूत्रों की मानें तो कमांडर जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर भी चर्चा करेंगे। साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी।

बता दें कि भारतीय और चीनी सैनिक पाँच मई को पैंगोंग सो झी क्षेत्र में भिड़ गए थे। एक-दूसरे पर हमले करने से दोनों तरफ के सैनिक चोटिल हो गए थे। नौ मई को सिक्किम सेक्टर के नाकुला पास चीनी और भारतीय सैनिक आमने आ गए थे। इस दौरान भी दोनों पक्षों के 10 सैनिक घायल हुए थे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव चीन के उस आरोप को पहले ही नकार चुके थे कि भारतीय सैनिकों ने चीन के क्षेत्र में अतिक्रमण किया, जिससे तनाव बढ़ा।