समाचार
भारत-बांग्लादेश के बीच 55 वर्षों बाद नरेंद्र मोदी और शेख हसीना ने शुरू किया रेल लिंक

भारत और बांग्लादेश के बीच गुरुवार (17 दिसंबर) को डिजिटल शिखर सम्मेलन आयोजित हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शेख हसीना ने भारत-बांग्लादेश के बीच 55 वर्षों बाद रेल लिंक का उद्घाटन किया। इसके अलावा, उन्होंने शेख मुजफ्फर सलमान पर एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने संयुक्त रूप से चिलाहटी-हल्दीबाड़ी रेल लिंक का उद्घाटन किया। यही नहीं, दोनों ने भारत-बांग्लादेश के बीच 1965 से पूर्व जारी छह रेल संपर्कों को पुनर्जीवित करने संचालन के लिए हामी भरी।

चिलाहटी-हल्दीबाड़ी के साथ छह में से पाँच रेल लिंक वर्तमान में चालू हैं। पश्चिम बंगाल को बांग्लादेश से जोड़ने वाले अन्य चार परिचालन रेल लिंक पेट्रापोल (भारत) – बेनापोल (बांग्लादेश), गेदे, सिंघाबाद (भारत)-रोहनपुर (बांग्लादेश) और राधिकापुर (भारत)-बीरोल (बांग्लादेश) हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “बांग्लादेश के साथ संबंध मजबूत करना मेरी प्राथमिकता रही है। कोविड-19 के संक्रमण के दौरान भारत और बांग्लादेश का अच्छा सहयोग रहा है। वैक्सीन के कार्य में भी दोनों का सहयोग बना रहेगा। दोनों देश कनेक्टिविटी पर ज़ोर दे रहे हैं, जो हमारी मित्रता को दिखाता है।”

शेख हसीना ने कहा, “दोनों देश करीब आए हैं और उनके लोगों के बीच में आपसी संबंध मजबूत हुए हैं। भारत और हम दोनों ही विजय दिवस मना रहे हैं। मैं भारत सरकार और लोगों का आभार व्यक्त करती हूँ, जिन्होंने हमारी मुक्ति के लिए पूरे दिल से समर्थन दिया। शेख हसीना ने इस दौरान 1971 की जंग में शहीद हुए भारतीय जवानों को श्रद्धाँजलि दी।”