समाचार
गोटबाया राजपक्षे का प्रधानमंत्री मोदी ने किया स्वागत, एमडीएमके का विरोध प्रदर्शन

श्रीलंका की सत्ता संभालने के बाद भारत दौरे पर आए नवनियुक्त राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे का दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में शुक्रवार को स्वागत किया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी अगवानी की। उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मुलाकात की।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद श्रीलंकाई राष्ट्रपति के लिए औपचारिक भोज का आयोजन करेंगे। दरअसल, गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच द्विपक्षीय वार्ता प्रस्तावित है। इस दौरान दोनों देशों के बीच रक्षा, व्यापार, सीमा विवाद सहित कई द्विपक्षीय मुद्दों पर सकारात्मक बातचीत की संभावना है।

उधर, श्रीलंकाई राष्ट्रपति की यात्रा के विरोध में मारूमलार्ची द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एमडीएमके) के नेता वाइको ने गुरुवार को दिल्ली में समर्थकों के साथ प्रदर्शन किया। इसके बाद पुलिस प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर थाने ले गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साझा प्रेस वार्ता में कहा, “आतंकवाद के खिलाफ जंग में भारत का श्रीलंका को अटल समर्थन है। यह स्वाभाविक है कि हम एक-दूसरे की सुरक्षा और चिंताओं को लेकर संवेदनशील रहें। भारत ने हमेशा आतंकवाद का विरोध किया है।” वहीं, गोटबाया राजपक्षे ने कहा, “नरेंद्र मोदी और मेरे बीच कई अहम मुद्दों पर बात हुई। दोनों देशों की सुरक्षा को प्राथमिकता देने पर बात हुई है। हमारे बीच आर्थिक सहयोग बढ़ाने को लेकर भी बात हुई है।”

बता दें कि गोटबाया राजपक्षे गुरुवार को अपनी पहली आधिकारिक विदेश यात्रा पर 3 दिन के लिए भारत आए हैं। प्रधानमंत्री मोदी के निमंत्रण पर आए राजपक्षे का केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने एयरपोर्ट पर स्वागत किया था। भारत पहले ही नई श्रीलंका सरकार के साथ मिलकर काम करने की इच्छा जता चुका है।