समाचार
प्रधानमंत्री ने चीन छोड़ने को इच्छुक उद्योगों को राज्यों में आकर्षित करने का सुझाव दिया

राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के वुहान शहर में शुरू हुई कोविड-19 महामारी के बीच वहाँ से बाहर निकलने की इच्छुक कंपनियों को आकर्षित करने की संभावनाओं को लेकर सुझाव दिए।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “राज्य सरकारों को निवेश को आकर्षित करना चाहिए और वे अपने राज्यों में उद्योगों की मेजबानी के लिए तैयार रहें। दरअसल, भारत अपने खास जनशक्ति कौशल और एक बेहतर बुनियादी ढाँचे के साथ विनिर्माण के लिए वैकल्पिक स्थान देने की क्षमता रखता है।”

एक विश्वसनीय सूत्र ने प्रधानमंत्री के हवाले से जानकारी दी कि उन्होंने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कई उद्योग कोरोनोवायरस संकट के बाद चीन से बाहर निकलने के विकल्प तलाश रहे हैं। हम सभी को राज्यों में निवेश की संभावना के लिए एक व्यापक योजना पर काम करना चाहिए।

रिपोर्ट में कहा गया कि इससे पूर्व, प्रधानमंत्री मोदी ने इशारा किया था कि चीन में अपने उद्योग स्थापित करने वाली कंपनियाँ भारत को एक अच्छे मेजबान के तौर पर देख रही हैं लेकिन यह भी कह रही हैं कि उसे कोविड-19 जैसी चुनौतियों का सामना करने के लिए आत्मनिर्भर बनना चाहिए।

यह टिप्पणी भारत की इच्छाशक्ति और वायरस की उत्पत्ति व उसके फैलने में चीन का हाथ होने की ओर भी इशारा करती है।