समाचार
अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए प्रधानमंत्री की अर्थशास्त्रियों, उद्यमियों से चर्चा
आईएएनएस - 9th January 2020

गुरुवार (9 जनवरी) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 से अधिक उद्योग विशेषज्ञों और अर्थशास्त्रियों के साथ विकास और रोजगार पर भारतीय अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के कदमों की समीक्षा और उठाए गए कदमों पर उनके विचार जानने के लिए दो घंटे की बैठक की।

सूत्रों के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य पर अर्थशास्त्रियों को संबोधित किया।

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने अर्थव्यवस्था में खपत और मांग बढ़ाने के लिए सुझाव लिए। गृह मंत्री अमित शाह, वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और सड़क एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी इस बैठक में उपस्थित थे।

न्यूज़ ऑन एयर की रिपोर्ट के अनुसार निजी क्षेत्र में भागीदारी उद्यम पूंजी के लिए वित्तपोषण, उत्पादन, यात्रा और पर्यटन, परिधान, एफएमसीजी, रियल एस्टेट, डेटा और वित्तीय विश्लेषण के अलावा प्राथमिक क्षेत्रो जैसे कृषि और स्वास्थ्य सेवा जैसे प्राथमिक क्षेत्रों से थी।

भाग लेने वालों में युवा उद्यमी भी थे। विशेष रूप से अर्थव्यवस्था और विकास में व्यापक ध्यान केंद्रित किया गया।

प्रमुख अर्थशास्त्रियों और प्रमुख क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ प्रधानमंत्री की यह बैठक, वार्षिक बजट पूर्व परामर्श के मद्देनजर काफी महत्वपूर्ण है।

बैठक में डीईए सचिव अतनु चक्रवर्ती, वित्त सचिव राजीव कुमार, नीतीयोग के सह-अध्यक्ष राजीव कुमार और सीईओ अमिताभ कांत, पीएमईएसी के चेयरमैन बिबेक देबरॉय, पंजाब और सिंध बैंक के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष चरणजीत सिंह, संजय नायर, इन्फिया एक वैश्विक निजी इक्विटी कंपनी के प्रमुख केकेआर और बंधन बैंक के सीईओ चंद्र शेखर घोष शामिल हुए।

(इस समाचार को आईएएनएस की सहायता से प्रकाशित किया गया है।)