समाचार
75 नए सरकारी मेडिकल कॉलेज पर प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में सीसीईए की मंजूरी

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने चरण-3 के तहत स्वास्थ्य संबंधी मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता बढ़ाने के लिए 24,000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 2021-22 तक 75 सरकारी मेडिकल कॉलेजों की स्थापना को स्वीकृति दी।

हंस इंडिया  की रिपोर्ट के अनुसार, नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना देश के उन हिस्सों में की जाएगी, जहाँ चिकित्सा कॉलेज नहीं हैं और असेवित व आकांक्षी जिलों में आते हैं। एक आधिकारिक बयान में कहा गया, “बिना मेडिकल कॉलेज वाले क्षेत्रों में कम से कम 200 बेड वाले जिला अस्पताल के साथ नए मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाएँगे। 300 बेड वाले आकांक्षा जिले और जिला अस्पताल को प्राथमिकता दी जाएगी।”

अधिकारी ने आगे कहा, “मौजूदा जिला या रेफरल अस्पतालों से जुड़े नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों की स्थापना से योग्य चिकित्सकों की संख्या बढ़ेगी। सरकारी क्षेत्र में चिकित्सा सुविधाएँ बेहतर होंगी, जिला अस्पतालों के मौजूदा बुनियादी ढाँचे का उपयोग होगा और देश में सस्ती चिकित्सा शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा।

सरकार ने पहले चरण-1 और 24 के तहत मौजूदा जिला-रेफरल अस्पतालों से जुड़े 58 नए मेडिकल कॉलेजों को चरण-2 के तहत खोलने की मंजूरी दी थी। बयान में कहा गया है कि नए मेडिकल कॉलेजों (58+24+75) की स्थापना से देश में कम से कम 15,700 एमबीबीएस सीटें बढ़ेंगी।