समाचार
प्रधानमंत्री ने नमामि गंगे मिशन की छह परियोजनाओं का उत्तराखंड में किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमामि गंगे मिशन के तहत उत्तराखंड में मंगलवार (29 सितंबर) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए छह बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, “गंगा की निर्मलता के लिए हम पुराने तौर-तरीकों की बजाए नई सोच के साथ आगे बढ़े। हमने इसे सिर्फ गंगा की सफाई तक सीमित नहीं रखा बल्कि देश का सबसे बड़ा और विस्तृत नदी संरक्षण कार्यक्रम बनाया।”

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, “सरकार ने चारों दिशाओं में एकसाथ काम किया। गंगा में गंदे पानी को गिरने से रोकने के लिए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांटों का निर्माण करवाया। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट इस तरह बनवाए, ताकि आगामी 10 से 15 वर्षों की आवश्यकताएँ पूरी हो सकें। गंगा किनारे बसे 100 बड़े शहरों और 5000 गाँवों को खुले में शौच से मुक्त करवाया। गंगा की सहायक नदियों को भी प्रदूषित होने से रोका।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “प्रयागराज कुंभ में गंगा की निर्मलता का दुनियाभर के श्रद्धालुओं ने अनुभव किया था। अब हरिद्वार कुंभ के दौरान भी पूरी दुनिया निर्मल गंगा स्नान का अनुभव करेगी। यहाँ गंगा म्यूज़ियम बनने से आकर्षण और बढ़ेगा। यह बाहर से आने वाले पर्यटकों के लिए गंगा से जुड़ी विरासत को समझने का एक माध्यम बनेगा।

उन्होंने कहा, “पहले की सरकारों में पानी जैसा महत्वपूर्ण विषय अनेकों मंत्रालयों और विभागों में बंटा था। इनमें कोई तालमेल नहीं था। इसकी वजह से देश में सिंचाई या पीने के पानी की समस्या बढ़ती गई। आज़ादी के इतने वर्षों बाद भी 15 से अधिक घरों में पाइप से पीने का पानी नहीं पहुँचता था। अब ये मंत्रालय हर घर तक जल पहुँचाने के मिशन में जुटा हुआ है। आज जलजीवन मिशन के तहत हर दिन करीब 1 लाख परिवारों को शुद्ध पेयजल की सुविधा से जोड़ा जा रहा है।”