समाचार
“भारत से आने वाले मुसलमानों को पाकिस्तान में जगह नहीं देंगे”- इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत में लागू किए गए नागरिकता कानून को लेकर कहा, “इसकी वजह से लाखों मुसलमानों को भारत छोड़ना पड़ेगा। ऐसे में वह आने वाले शरणार्थियों को अपने देश में जगह नहीं देंगे।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, स्विट्जरलैंड के जेनेवा में हुए ग्लोबल फॉरम रेफ्यूजी कार्यक्रम में बोलते हुए इमरान खान ने कहा, “इस कानून से एक तरह का शरणार्थी संकट पैदा होगा। इस वजह से एशिया के दो परमाणु संपन्न देशों के बीच विवाद भी हो सकता है।”

नागरिकता कानून को लेकर उन्होंने दूसरे देशों से आग्रह करते हुए कहा, “पाकिस्तान विवादित कश्मीर में भारत द्वारा लगाए गए कर्फ्यू के मद्देनजर भारत से आने वाले अधिक शरणार्थियों को स्थान नहीं देगा।”

नागरिकता अधिनियम कानून के तहत 2015 से पहले पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए छह धार्मिक अल्पसंख्यकों जैसे हिंदू, पारसी, जैन, ईसाई, बौद्ध और सिखों से अवैध प्रवासियों को नागरिकता प्रदान की जाएगी। इस कानून में इन देशों से आए मुस्लिमों को नागरिकता नहीं दी जाएगी क्योंकि सरकार का मानना है कि यह मुस्लिम बहुल देश हैं। इनमें मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा नहीं हो सकती है।