समाचार
पहले चरण के टीकाकरण का 80 प्रतिशत खर्च उठाएगा पीएम केयर्स कोष- व्यय सचिव

व्यय सचिव टीवी सोमनाथन ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान के पहले चरण के लिए 2,200 करोड़ रुपये पीएम केयर्स कोष द्वारा खर्च करने का लक्ष्य है। इसके तहत अग्रिम पंक्ति के स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा रहा है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा देश के नागरिकों की सहायता और राहत के लिए प्रधानमंत्री राहत आपात स्थिति कोष (पीएम-केयर्स) मार्च 2020 में स्थापित किया गया था। अब इसी के माध्यम से महामारी से प्रभावित क्षेत्रों को राहत प्रदान की जा रही है।

केंद्रीय बजट 2020-21 महामारी के पहले आया था और टीकाकरण के लिए इसमें कोई राशि आवंटित नहीं की गई थी। कथित तौर पर जनवरी से मार्च तक टीकाकरण की लागत का 82 प्रतिशत पीएम-केयर्स कोष द्वारा वहन किया जा रहा है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट 2021-22 में कोविड-19 टीकाकरण के लिए 3,500 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

पीटीआई को दिए एक साक्षात्कार में सोमनाथन ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अग्रिम पंक्ति और स्वास्थ्य कर्मचारियों के टीकाकरण का खर्च पूरी तरह से केंद्र सरकार वहन कर रही है। यह राशि पीएम केयर्स कोष और स्वास्थ्य मंत्रालय से आ रही है।

उन्होंने कहा, “जनवरी से मार्च के लिए (टीकाकरण) लागत लगभग 2,700 करोड़ रुपये होने की उम्मीद है। पहले दौर में यह 3 करोड़ वैक्सीन अग्रिम पंक्ति वालों और स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए है। इस दौरान पूरी लागत केंद्र सरकार द्वारा वहन की जाएगी।”

व्यय सचिव ने आगे कहा, “हमने टीकाकरण की आकस्मिक लागत के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय को अतिरिक्त धनराशि प्रदान की थी। हमने टीकाकरण के 3 करोड़ लोगों के लिए 480 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया।