समाचार
संकल्प पत्र पर बोले पीयूष, कहा मोदी ऐसा वादा नहीं करते जो अविवेकपूर्ण हो

भाजपा के संकल्प पत्र को लेकर कांग्रेस द्वारा किए जा रहे कटाक्ष पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा पत्र जारी करने से पहले यह सुनिश्चित किया था कि उसमें वे वादे न सम्मिलित किए जाएँ, जो आर्थिक रूप से अव्यवहारिक हों।”

हिंदुस्तान टाइम्स  को दिए साक्षात्कार में गोयल ने कहा, “मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में एक बात गौर की है, जिसे मैंने 2014 के बाद इस बार भी देखा। वह यह सुनिश्चित करते हैं कि कोई ऐसा वादा न किया जाए जो आर्थिक रूप से अविवेकपूर्ण हो। यही वजह है कि संकल्प पत्र में की गई प्रत्येक प्रतिबद्धता एक कठोर बजट प्रक्रिया से गुजरती है। ऐसा करने का मकसद यह है ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि वादों को पूरा करने के लिए उस वक्त पर्याप्त धन उपलब्ध होगा या नहीं। भाजपा के संकल्प पत्र मे कोई ऐसा वादा नहीं है, जो हम पूरा न कर सकें, ताकि अर्थव्यवस्था पर भी खराब प्रभाव न पड़े।”

कांग्रेस ने 2019 के आम चुनावों में सत्ता में आने पर न्यूनतम गारंटी आय योजना (एनवाईएवाई) को जारी करने का वादा किया है। इसके तहत देश के 20 प्रतिशत गरीबों के बैंक खाते में हर साल 72000 रुपये डाले जाएँगे। कांग्रेस की इस योजना की अर्थशास्त्रियों ने भरसक आलोचना की है। कांग्रेस इस बात पर चुप्पी भी साधे हुए है कि इस कार्यक्रम को किस तरह वित्त पोषित किया जाएगा।

एनआईटीआई आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने ट्वीट किया था, “कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऐसी योजना की घोषणा की है, जो राजकोष को कंगाल कर देगी। यह अव्यवहारिक है। इसे कभी लागू नहीं किया जाएगा।”