समाचार
देश का नाम भारत या हिंदुस्तान करने की पीआईएल पर 2 जून को होगी सुनवाई

सर्वोच्च न्यायालय में देश के नाम को लेकर जनहित याचिका दाखिल की गई। याचिका में संविधा के अनुच्छेद-1 में संशोधन करके इंडिया शब्द हटाकर देश का नाम भारत या हिंदुस्तान रखने की मांग की गई थी।

जनसंदेश की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में दो जून को सुनवाई करेगा। यह याचिका दिल्ली के रहने वाले एक व्यक्ति ने दाखिल की है।

याचिका पर शुक्रवार (29 मई) को सुनवाई होनी थी लेकिन मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे के उपलब्ध न होने की वजह से अन्य कुछ मामलों के साथ इसकी सुनवाई भी 2 जून तक के लिए टाल दी गई है।

अभी अनुच्छेद-1 कहता है कि भारत अर्थात इंडिया राज्यों का संघ होगा। याचिका में कहा गया कि इसकी जगह संशोधन करके इंडिया शब्द हटा दिया जाए। उसकी जगह भारत या हिंदुस्तान कर दिया जाए। याचिकाकर्ता का कहना है, “इंडिया शब्द गुलामी का प्रतीक लगता है। देश को मूल और प्रमाणिक नाम भारत से ही मान्यता दी जानी चाहिए। इससे लोगों में राष्ट्रीय भावना पनपेगी।”