समाचार
फिल्म सिटी के लिए वन भूमि पर अवैध कब्जे का बॉलीवुड पर आरोप, याचिका वायरल

मुंबई में फिल्म सिटी के हिस्से में 51 एकड़ वन भूमि को वापस करने के उद्देश्य से बॉलीवुड के लिए डाली गई एक याचिका सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई।

फिल्म सिटी को वर्तमान में 520 एकड़ के हरे-भरे जंगल के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। इस 51 एकड़ भूमि को 1969 में संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान (एसजीएनपी) ने गलती से स्थानांतरित कर दिया था।

एसजीएनपी के अधिकारियों ने अपने बयान में कहा, “उनकी मांग है कि 1970 में दी गई भूमि फिर से उन्हें वापस कर दी जाए।” हालाँकि, उनके अनुरोध पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

यह अनुरोध 2011 के बाद से तेज हो गया था, जब जंगली जानवरों को इस क्षेत्र में घूमते हुए देखा गया था। उस वक्त कई तेंदुओं के लोगों पर हमले की जानकारी मिली थी, जिसके बाद आउटडोर फिल्मों व टीवी सीरियल्स की शूटिंग पर रोक लगा दी गई थी।

इस याचिका पर पहले से ही 6000 से अधिक लोगों के हस्ताक्षर हैं और यह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस को संबोधित है। याचिका में दावा किया गया है कि फिल्म सिटी ने अवैध रूप से मुंबई की वन भूमि पर कब्जा कर रखा है।

जलवायु परिवर्तन का हवाला देते हुए याचिका में महाराष्ट्र सरकार से 51 एकड़ जमीन वापस लेने की बात कही गई है, ताकि पर्यावरण को पहुँचाए गए नुकसान की भरपाई वहाँ पौधरोपण करके की जा सके।

इस याचिका के अलावा एक हैशटैग शटडाउनफिल्मसिटी भी ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा। इसने फिल्म सिटी में बनीं इमारतों को गिराने का आह्वान किया, ताकि जंगल की जमीन को फिर से हासिल किया जा सके। याचिका में बताया गया है कि फिल्म सिटी मेट्रो कार शेड की तुलना में छह गुना अधिक वनों की कटाई का कारण बनी है।