समाचार
बहिष्कार के बीच आईसीआईसीआई में किया चीनी बैंक ने ₹15,000 करोड़ का निवेश

भारत में चीन वस्तुओं के बहिष्कार के बीच जानकारी मिल रही है कि पीपल्स बैंक ऑफ चाइना ने आईसीआईसीआई बैंक में हिस्सेदारी खरीदी है। हालाँकि, जानकारों का मानना है कि इससे देशहित के लिए किसी तरह का खतरा नहीं है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, पीपल्स बैंक ऑफ चाइना म्यूचुअल फंडों, बीमा कंपनियों सहित उन 357 संस्थागत निवेशकों में शामिल है, जिन्होंने हाल ही में आईसीआईसीआई बैंक के क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) ऑफर में 15,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

जानकारों का कहना है कि बैंकिंग भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की सख्त निगरानी में रहने वाला कारोबार है। इस वजह से इससे देशहित को कोई खतरा नहीं हो सकता है। आईसीआईसीआई ने पूँजी जुटाने के लिए संस्थागत निवेशकों से पैसा जुटाने की कोशिश की थी। गत सप्ताह ही उसका लक्ष्य पूरा हुआ है।

बता दें कि चीन का केंद्रीय बैंक अमेरिका की जगह भारत जैसे दूसरे देशों में निवेश बढ़ा रहा है। मार्च में चीन के केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी में अपना निवेश बढ़ाकर एक प्रतिशत से ज्यादा किया था, तब इस पर काफी हंगामा हुआ था।