समाचार
अनस कुरैशी और सहधर्मियों की पिटाई से मेरठ स्थित शिव मंदिर पुजारी की मौत

उत्तर प्रदेश के मेरठ में शिव मंदिर के साधु की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप अनस समेत मुस्लिम समुदाय के लोगों पर लगा है। आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर रखकर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, अब्दुलापुर बाज़ार में एक शिव मंदिर है, जिसके कांति प्रसाद पुजारी थे। बताया जा रहा है कि कांति बिजली का बिल जमा करने गए थे। लौटते वक्त ग्लोबल सिटी के पास गाँव के ही अनस कुरैशी ने उनके गमछे को लेकर कथित धार्मिक टिप्पणी की और मज़ाक बनाया।

पुजारी कांति भगवा गमछा ओढ़ते थे और पीले रंग के कपड़े पहनते थे। अनस का उन्होंने विरोध किया तो आरोपी ने उनकी पिटाई कर दी। वह शिकायत लेकर आरोपी के घर पहुँचे। वहाँ भी अनस ने घरवालों के साथ मिलकर उनकी पिटाई की। उसके बाद आरोपी भाग गया। कांति के घरवाले सूचना पर पहुँचे और उन्हें थाने लेकर गए। वहाँ से हालत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले गए लेकिन उपचार के दौरान पुजारी की मौत हो गई।

कांति प्रसाद की तहरीर पर मेरठ पुलिस ने अनस के खिलाफ धार्मिक टिप्पणी करने, मारपीट और जान से मारने की धमकी देने के मामले में एफआईआर दर्ज कर ली। साधु की मौत की सूचना पर कई हिंदू संगठन थाने पर पहुँचे और हंगामा करने लगे। मामला बढ़ने पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

एसओ संजय कुमार का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। अन्य की तलाश की जा रही है। तनाव को देखते हुए गाँव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।