समाचार
पेटीएम का पेपे जापान को बना रहा डिजिटल, एक साल में बना दूसरा सबसे पसंदीदा ऐप

पेटीएम ने जापान में सॉफ्टबैंक दूरसंचार दिग्गज एवं इंटरनेट खोज इंजन याहू के साथ मिलकर पिछले साल अक्टूबर में पेपे नामक ऐप शुरू किया था।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार पेपे जापान का दूसरा सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाला नकद रहित भुगतान सेवा का साधन बन चुका है।

पेपे भारत की पेटीएम की तर्ज पर ही क्यूआर कोड संबंधी डिजिटल भुगतान सेवा के अलावा भी अन्य सेवाओं की सुविधा प्रदान कर रहा है।

इस सेवा के चलते लोग खाना, दवाई आदि घर बैठे मंगवा सकते हैं। इसके साथ ही लोग अपने बिल, कर आदि का भुगतान भी कर सकते हैं। लोग होटल, रेल, सिनेमा, प्लेन आदि की टिकटें भी आरक्षित कर सकते हैं।

अपनी कमाई की प्रस्तुति के दौरान सॉफ्टबैंक के मालिक मासायोशी सन ने बताया कि पेपे ने अपने मासिक लेन-देन में ज़बरदस्त बढ़ोतरी दिखाई है। पेपे का मासिक लेनदेन की संख्या 2019 जनवरी में 20 लाख से बढ़कर अक्टूबर 2019 तक बढ़कर 8.5 करोड़ हो गई है।

पेपे की बढ़ती लोकप्रियता के पीछे डिजिटल एवं नकद रहित भुगतान सेवा हेतु इसकी आसान सुविधाओं एवं उपयोगिता है। गौरतलब है कि जापान सरकार नकद रहित भुगतान पारिस्थितिकीतंत्र पर काफी जोर दे रही है और पेपे को भी जापान सरकार का पूरा सहयोग प्राप्त है।

आपको बता दें कि जापानी अर्थव्यवस्था प्रमुख तौर पर नकद पर ही निर्भर है।