समाचार
पटना में मार्च 2022 तक मरीन ड्राइव की तर्ज पर खुलेगा 5.5 किलोमीटर लंबा गंगा पथ

बिहार की राजधानी पटना के लिए एक बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर और संयोजकता को बढ़ावा देने के लिए महत्वाकांक्षी 5.5 किलोमीटर लंबा गंगा पथ आगामी वर्ष के मार्च तक खुलने वाला है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई के प्रतिष्ठित मरीन ड्राइव के समकक्ष इसे बनाया जा रहा है। दीघा और एएन सिन्हा संस्थान के बीच गंगा पाथ-वे को मार्च तक वाहनों के आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा।

यह भीड़भाड़ वाले अशोक राजपथ पर यातायात के भार को कम करने के लिए गंगा नदी के दक्षिणी तट पर आने वाली 3,390 करोड़ रुपये की परियोजना का एक भाग है।

महत्वाकांक्षी परियोजना की कल्पना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान की थी। 20.5 किलोमीटर लंबे चार लेन वाले एक्सप्रेस-वे परियोजना की आधारशिला 2013 में रखी गई थी।

एक बार कार्य पूर्ण होने के बाद यह राष्ट्रीय राजमार्ग-30 और पश्चिम में एम्स-दीघा एलिवेटेड कॉरिडोर को पूर्व में पटना शहर में गंगा नदी पर आने वाले छह लेन वाली कच्ची दरगाह-बिदुपुर पुल से जोड़ देगा।

यह गौर किया जाना चाहिए कि इस परियोजना को मूल रूप से 2017 तक पूरा किया जाना था, जिसे अब 2023 तक सही से पूरा किया जाएगा। भूमि अधिग्रहण और डिज़ाइन संशोधनों में प्रक्रियात्मक गड़बड़ी जैसे कारणों से परियोजना में अत्यधिक देरी देखी गई है।