समाचार
पाकिस्तान से भागकर अमेरिका पहुँची महिलाओं के शोषण के विरुद्ध आवाज़ उठाने वाली

पाकिस्तान में महिलाओं के अधिकार के लिए लड़ने वाली कार्यकर्ता गुलालाई इस्माइल अपने देश से भागकर संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएसए) पहुँच गई हैं। वहाँ उन्होंने राजनीतिक शरण के लिए आवेदन किया है। उनपर इस्लामाबाद ने राजद्रोह का आरोप लगा दिया था।

एएनआई  की रिपोर्ट के अनुसार, इस्माइल ने पाकिस्तान के सुरक्षा बलों द्वारा महिलाओं के यौन शोषण की घटनाओं को उजागर किया था। इसके लिए उन पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कर दिया गया था।

न्यूयॉर्क टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, 32 वर्षीय महिला कार्यकर्ता पिछले महीने पाकिस्तान से भागने में सफल रही। अब वह ब्रुकलिन में अपनी बहन के साथ रह रही है। गुलालाई ने कहा, “मैंने किसी भी हवाई अड्डे से बाहर उड़ान नहीं भरी है। वह इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकती है क्योंकि उसकी पाकिस्तान से निकलने की कहानी कई लोगों के जीवन को खतरे में डाल सकती है।”

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) ने इस्लामाबाद उच्च न्यायालय से विदेश में कथित राज्य विरोधी गतिविधियों के मद्देनज़र इस्माइल का नाम एक्ज़िट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में रखने की सिफारिश की थी। अदालत ने ईसीएल से उसका नाम हटाने का आदेश दिया लेकिन आंतरिक मंत्रालय ने आईएसआई द्वारा की गई सिफारिशों को देखते हुए उसके पासपोर्ट को जब्त करने सहित उचित कार्रवाई करने की अनुमति दे दी थी।

इस्माइल अपने देश में मई में एक अपराधी बन गई थी, जिसके बाद उन्होंने तुरंत पाकिस्तानी सैनिकों के खिलाफ सोशल मीडिया पर आरोप लगाए थे। जनवरी में उन्होंने फेसबुक और ट्विटर पर अपने पोस्ट में सैनिकों के ऊपर पाकिस्तानी महिलाओं के साथ दुष्कर्म और यौन शोषण का आरोप लगाया था। उन्होंने जातीय पश्तून आंदोलन में भी हिस्सा लिया था।