समाचार
“अगर वीर सावरकर प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान कभी अस्तित्व में न आता”- उद्धव ठाकरे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को वीर सावरकर की सराहना करते हुए कहा, “अगर वे भारत के प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान कभी अस्तित्व में ही नहीं आता।”

इकोनॉमिक टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, ‘सावरकर: इकोज़ फ्रॉम अ फॉरगाटेन पास्ट’ पुस्तक के विमोचन के मौके पर उद्धव ठाकरे ने भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में वीर सावरकर के योगदान के लिए उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किए जाने की बात कही।

ठाकरे ने कहा, “अगर वे इस देश के प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान कभी जन्म ही ना लेता। हमारी सरकार हिंदुत्व सरकार है और आज मैं उनके लिए भारत रत्न की मांग करता हूँ। मैं नेहरू को वीर कहता अगर वह 14 मिनट भी जेल के अंदर सावरकर की तरह रहे होते। वह 14 वर्ष तक जेल में रहे थे।”

उद्धव ठाकर ने सावरकर की आलोचना और अपमान करने के लिए कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी तंज कसे। उन्होंने कहा, “राहुल गांधी को इस पुस्तक को पढ़ने के लिए एक प्रति दी जानी चाहिए।”

ठाकरे ने यह भी घोषणा की कि वह पुस्तक की प्रतियाँ खरीदेंगे। यह सुनिश्चित करेंगे कि महाराष्ट्र राज्य के सभी कॉलेज और स्कूल अपने पुस्तकालयों में इसे रखे। साथ ही उन्होंने पुस्तक को सभी सांसदों और विधायकों को पढ़ने के लिए अनिवार्य बताया।