समाचार
पाकिस्तान कोविड-19 वैक्सीन खरीदने की बजाय अंतरराष्ट्रीय दान-दाताओं पर रहेगा निर्भर

पाकिस्तान कथित तौर पर जल्द ही कोई कोविड-19 वैक्सीन खरीदने की योजना नहीं बना रहा है। इसके बजाय इमरान सरकार फिलहाल कोरोना महामारी से निपटने के लिए मुफ्त टीके की खुराकों के लिए अंतरराष्ट्रीय दान-दाताओं पर निर्भर रहेगा।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय सभा की लोक लेखा समिति (पीएसी) को जानकारी देते हुए पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के सचिव आमिर अशरफ ख्वाजा ने कहा, “प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार हर्ड इम्यूनिटी और साथी देशों से मुफ्त में मिलने वाली कोरोना वैक्सीन पर निर्भर रहेगी। चालू वित्त वर्ष के दौरान उसके टीके खरीदने की कोई योजना नहीं है।”

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, एनएचएस सचिव ने पीएसी को सूचित किया कि चीनी दवा कंपनी साइनोफर्म ने कोविड-19 वैक्सीन की 10 लाख खुराक देने के लिए प्रतिबद्ध था। इसमें से 5 लाख टीके की खुराकें पाकिस्तान को सौंप दी गई थीं।

इसके अलावा, एनएचएस सचिव के अनुसार, ग्लोबल अलायंस फॉर वैक्सीन्स एंड इम्यूनाइजेशन (गावी) के जरिए भारत निर्मित ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रोजेनेका की कोरोना वैक्सीन की एक करोड़ 60 लाख मुफ्त खुराकें भी पाकिस्तान को मिल सकती हैं, जिससे वहाँ की 20 प्रतिशत आबादी को टीका लग सकेगा।