समाचार
पाकिस्तान के सिंध प्रांत में दो हिंदू लड़कियों से जबरदस्ती धर्मांतरण करवाया गया

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के ढरकी शहर में होली की शाम को दो हिंदू लड़कियों को पहले अगवाह किया गया, और फिर उनका इस्लाम धर्म में धर्मांतरण करवाया गया।  पाकिस्तानी पुलिस के द्वारा एफआईआर उस समय लिखी गई जब हिंदू समुदाय विरोध करने सड़कों पर आया, टाइम्स ऑफ इंडिया  ने रिपोर्ट किया।

कुछ दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक ट्वीट के ज़रिये कहा था कि “यह नया पाकिस्तान जिन्नाह का पाकिस्तान है, हम यह सुनिश्चित तौर पर कहना चाहते हैं कि हमारे यहां अल्पसंख्यकों से यहां के आम नागरिकों की तरह व्यवहार किया जाता है, वैसे नहीं जैसे भारत में किया जाता है”, खान के यह कहने के बाद भी इस तरह की घटना वहां घटित हुई।

वहां के हिंदू समुदाय ने बड़े रूप में प्रदर्शन करते हुए इस मामले के आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करवाने की मांग की है और साथ ही प्रधानमंत्री इमरान खान को उनके द्वारा अल्पसंख्यकों को किए गए वादों के बारे में भी याद दिलाया है।

अगवाह की गई लड़कियों में एक 13 वर्ष की रवीना है और दूसरी 15 साल की रीना।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी आया है जिमसें इन दोनों लड़कियों की शादी करवाई जा रही है और इस शादी में बहुत सारे लोग उपस्तिथ हैं।

पाकिस्तान हिंदू सेवा कल्याण ट्रस्ट के अध्यक्ष संजेश धाँजा ने बताया कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सुक्षित नहीं हैं।  संजेश ने इसी ही तरह के एक मामले के बारे में बताया जिसमें दो लड़कियों, कोमल और सोनीया को अगवाह कर लिया गया था और उसके बाद उनका जबरदस्ती इस्लाम में धर्मांतरण करवा दिया गया था।