समाचार
पाकिस्तान- नाबालिग हिंदू लड़की का जबरन धर्मांतरण, चार बच्चों के पिता से कराई शादी

पाकिस्तान में फिर से एक हिंदू लड़की को अगवा किया गया और उसका जबरन धर्मांतरण करवाकर इस्लाम कुबूल करवा दिया गया। यही नहीं, उस नाबालिग किशोरी की शादी एक तलाकशुदा व्यक्ति से करवा दी गई, जिसके पहले से ही चार बच्चे थे। यह मामला सिंध प्रांत के जकोबाबाद का है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय पाकिस्तानी हिंदूज यूथ फोरम और सिंधी हिंदू स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ पाकिस्तान के नाम से चल रहे फेसबुक पेज पर पिछले कुछ महीनों के दौरान जबरन धर्मांतरण व अपहरण कर मुस्लिम बनाने जैसी 50 घटनाओं का ज़िक्र किया गया है। इसमें सबसे पहला नाम महक कुमारी का है।

पाकिस्तान की पत्रकार नायला इनायत ने भी इस संबंध में ट्वीट किया है। जानकारी के अनुसार, नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली 15 साल की छात्रा महक 15 जनवरी को अचानक घर से लापता हो गई थी। इसके बाद परिवारवालों ने उसके लापता होने की पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। शिकायत में बताया गया कि नाबालिग को जबरन इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया है।

सोशल मीडिया पर हिंदू समुदाय के प्रतिनिधि ने कहा, “ननकी कुमारी, जिसे हम महक कुमारी कह रहे हैं, वो 15 साल की है। उसे लापता हुए चौथा दिन हो गया है। जकोबाबाद में उसकी गुमशुदगी को लेकर हिन्दू समुदाय चिंतित है। हर दूसरे दिन हम सुनते हैं कि हमारी लड़कियों का अपहरण कर उन्हें इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया। ऐसे काम करके मुस्लिम समुदाय हमें प्रताड़ित कर कर रहा है।”

इसके बाद एक वीडियो सामने आया, जिसमें पता चला कि नाबालिग ने दबाव में आकर इस्लाम कुबूल कर लिया है। उसका निकाह अली रज़ा माची नाम के मुस्लिम लड़के से हुआ है। उसने दरगाह अमरोत शरीफ में इस्लाम कुबूल किया है। अब उसका नाम अलीज़ा हो गया है।