समाचार
पाकिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ पश्तूनों का प्रदर्शन, चाहते हैं बेहतर जीवन

पाकिस्तान में पश्तून समुदाय के लोगों ने और संघीय रूप से प्रशासित जनजातीय क्षेत्र (एफएटीए) के लोगों ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र में संचालित आतंकी संगठनों के खिलाफ भारी विरोध प्रदर्शन शुरू किया है, एएनआई  ने रिपोर्ट किया।

यह विरोध प्रदर्शन जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के सत्र के संदर्भ में पश्तून समुदाय के लोगों ने किया है। पश्तून तहफूज़ आंदोलन के सदस्य फ़ज़ल-उर-रहमान ने पाकिस्तानी सरकार से यह मांग की है कि उन्हें भी सम्मान के साथ जीने का हक़ दिया जाए, और साथ ही कहा है कि समुदाय के सभी लोग आतंकवाद के सख्त खिलाफ हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तानी सेना ने पाकिस्तान के लगभग 32 हज़ार से अधिक निर्दोष नागरिकों को मारा है और वे सरकार से इस विषय पर सफाई चाहते हैं।

एक पश्तूनी राजनीतिक एक्टिविस्ट ने बताया, “इस इलाके में आतंकवादी संगठन आतंकवादियों को प्रशिक्षण देते हैं, ताकि वह उन्हें अफगानिस्तान में छोड़ सकें, पर वही आतंकवादी कश्मीर के लिए भी इस्तेमाल किए जा सकें”। पश्तून, बलोच और सिंधी समुदाय के सभी लोग आतंकवाद के खिलाफ हैं और वे चाहते हैं कि इन सभी आतंकवादी संगठनों को ध्वस्त किया जाए।