समाचार
इमरान खान को पाकिस्तानी नेताओं ने कहा अज्ञानी, सरकार के विरोध में निकाली रैली

पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के नेताओं ने एक रैली में प्रधानमंत्री इमरान खान को अयोग्य और अज्ञानी कह डाला। उन्होंने कहा, “इमरान की सरकार तानाशाही शासन से भी बेकार है।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, लाहौर के पास गुजरांवाला में इमरान खान सरकार के खिलाफ रैली निकाली गई। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने बाग-ए-जिन्ना में कहा, “अयोग्य और अज्ञानी नेता को वापस जाना होगा। इतिहास गवाह है कि बड़े से बड़े नेता नहीं टिक पाए। यह एक निर्णायक लड़ाई होगी।”

दरअसल, पीडीएम 11 विपक्षी दलों का गठबंधन है, जिसका 20 सितंबर को गठन किया गया था। इसने तीन चरणों में सरकार विरोधी अभियान चलाने की घोषणा की है। इमरान सरकार को सत्ता से हटाने के लिए देशभर में जनसभाएँ, प्रदर्शन और रैलियाँ की जाएँगी। जनवरी 2021 में इस्लामाबाद में लंबा मार्च निकाला जाएगा।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज़ और शाहिद शाकान अब्बासी, पख्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी के अध्यक्ष महमूद अचकजाई और जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फ़ज़ल (जेयूआई-एफ) के नेता मौलाना फज़लुर रहमान भी इस रैली में शामिल हुए। पीपीपी ने मोहसिन डावर को भी आमंत्रित किया था, जो पश्तून तहफुज मूवमेंट (पीटीएम) के प्रमुख हैं।

नवाज़ शरीफ की बेटी मरियम ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पर विपक्षी नेताओं को देशद्रोही बताने पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “जब जवाब मांगे गए तो कहा जा रहा है कि हम गद्दार हैं। देश के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की बहन फातिमा जिन्ना को भी गद्दार कहा गया। आपसे जब सवाल किए गए तो सेना के पीछे छिप गए। आप सेना का उपयोग अपनी नाकामी पर पर्दा डालने के लिए कर रहे हैं।”