समाचार
पीओके में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ प्रदर्शन, कहा- ‘हमें भारत का हिस्सा बनना है’

पाकिस्तान सेना द्वारा किए जा रहे अत्याचारों और मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ सोमवार (9 सितंबर) को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया गया।

एएनआई  से एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “हम लोग पाकिस्तान की सेना द्वारा प्रताड़ित हैं। पाकिस्तान कहता है कि भारत कश्मीर में अत्याचार कर रहा है लेकिन यहाँ वह क्या कर रहा है।”

सोशल मीडिया पर पीओके का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें गुस्साए प्रदर्शनकारी पाकिस्तानी सेना के खिलाफ नारेबाजी करते दिख रहे हैं। कुछ पाकिस्तान पुलिस के खिलाफ कह रहे, “इन अत्याचारों को रोकना होगा।” कुछ को पथराव करते हुए भी देखा जा सकता है। प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान कथित रूप से एक गाड़ी में भी आग लगा दी थी।

उनका आरोप है कि पीओके की जनता पर पाकिस्तानी सेना और पुलिस ने बर्बरता की। इस वजह से कई झाड़ियों के पीछे छिप गए और खुद को गोलाबारी से बचाने के लिए पहाड़ों पर चले गए। पीओके में अधिकारियों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के बाद करीब 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

एक अन्य प्रसारित हुए वीडियो में पीओके की जनता पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगा रही है। वीडियो में वहाँ के लोगों ने कहा, “वे पाकिस्तान का नहीं बल्कि भारत का हिस्सा बनना चाहते हैं। पीओके के लोगों को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि पाकिस्तान इस क्षेत्र में आतंक फैला रहा है। सेना द्वारा लगाए गए शिविरों का इस्तेमाल कश्मीरी महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने के लिए किया जा रहा है।”

पीड़ित जनता की मांग है कि विश्व समुदाय को पाकिस्तानी द्वारा किए गए अत्याचारों को देखना चाहिए। इस मुद्दे को अंतर-राष्ट्रीय मंचों पर उठाया जाना चाहिए।