समाचार
“परमाणु हमले की धमकी अपनी ताकतों पर पाकिस्तान के विश्वास में कमी दिखाती”- रावत

जम्मू-कश्मीर में विशेष दर्जे को खत्म करने के बाद पाकिस्तान द्वारा परमाणु हमले की धमकी पर कटाक्ष करते हुए, भारतीय थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि परमाणु हथियारों की धमकी से पता चलता है कि इस्लामाबाद को अपनी पारंपरिक ताकतों पर विश्वास कम है।

इकोनॉमिक टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, जनरल रावत ने यह भी कहा कि भारत पाकिस्तान से उभरते खतरों से अवगत है और किसी भी चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि भारत ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर कई ‘एहतियाती’ कदम उठाए हैं, जिससे किसी भी तरह के सीमा-पार आतंकी हमले से बचा जा सके।

उन्होंने बताया कि ऐसे संकेत मिले हैं कि पाकिस्तान ने एलओसी पर अतिरिक्त तैनाती की है। यहाँ तक ​​कि पाकिस्तान ने अपनी ज़मीन से काम करने वाले कई आतंकी संगठनों को सीमा पर तैनात किया है । जनरल रावत ने कहा, “पाकिस्तान के किसी भी हमले से निपटने के लिए भारत तैयार है। पाकिस्तान ने अगर एक हमला किया तो भारत उसे मुँहतोड़ जवाब देगा। हम घुसकर मारने में भी सक्षम हैं।”

उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में हिंसा फैलाना चाहता है। पाकिस्तान को एहसास है कि हिंसा भड़काना उसके लिए अच्छा है, लेकिन हम ऐसा कतई होने नहीं देंगे। भारतीय सेना स्थिति को संभालने के लिए पूरी तरह से तैयार है।