समाचार
कश्मीर पर ट्वीट से पाकिस्तान के 200 खाते बंद, पड़ोसी देशों का भारत को समर्थन

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद भारत में झूठी खबरें फैलाने और दुष्प्रचार करने पर ट्विटर ने पाकिस्तान के 200 खातों को बंद कर दिया। पड़ोसी देश इस मामले को उठाने ट्विटर के पास पहुँच गया।

उधर, कश्मीर मुद्दे को बांग्लादेश ने भारत का आंतरिक मसला बताया है। बांग्लादेश से पहले मालदीव, अफगानिस्तान, श्रीलंका, भूटान और नेपाल ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे को भारत का आंतरिक मामला बताया था।

द इंडियन एक्स्प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, माना जाता है कि पाकिस्तान सरकार ने ट्विटर को बताया कि पिछले एक सप्ताह में उनके नागरिकों के 200 से अधिक खाते बंद कर दिए गए। कई पत्रकारों, कार्यकर्ताओं, सरकारी अधिकारियों और सेना के फॉलोअर्स के ट्विटर अकाउंट बंद करने के बाद सरकार ने इस मुद्दे को उठाया।

इस मामले में ट्विटर के क्षेत्रीय कार्यालाय में पाकिस्तान के दूरसंचार प्राधिकरण (पीटीए) की ओर से शिकायत दर्ज की गई। खातों को बंद करने की जानकारी अर्सलान खालिद ने की थी।

खालिद ने कहा, “हम इस मामले को एक बहुस्तरीय रणनीति के साथ हल करने की कोशिश कर रहे हैं। पीटीए ने 200 खातों को बंद करने की जानकारी ट्विटर के क्षेत्रीय कार्यालय को भेजी है, ताकि उनको बंद करने का स्पष्ट कारण पता चल सके। हम राष्ट्रीय आईटी बोर्ड (एनआईटीबी) के माध्यम से एक दीर्घकालिक रणनीति पर काम कर रहे हैं, ताकि भविष्य में इस तरह की परिस्थितियाँ न उत्पन्न हों।”

उधर, बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने एक आधिकारिक विज्ञप्ति जारी कर कहा, “भारत के अनुच्छेद 370 को समाप्त करना उनका आंतरिक मसला है। बांग्लादेश ने हमेशा सिद्धांत की वकालत की है। क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाए रखने के साथ सभी देशों के लिए विकास प्राथमिकता होनी चाहिए।”