समाचार
पाकिस्तान के मंत्री ने 370 के उन्मूलन को भारत का आंतरिक मामला कहने पर मारा यू-टर्न

अनुच्छेद 370 को भारत का आंतरिक मामला बताकर विवादों और आलोचनाओं में घिरे पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को सोमवार (10 मई) को ट्वीट करके सफाई देनी पड़ी। उन्होंने कहा, “जम्मू-कश्मीर कभी भारत का आंतरिक मामला हो ही नहीं सकता है।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, शाह महमूद कुरैशी ने ट्वीट किया, “मैं स्पष्ट कर दूँ कि जम्मू-कश्मीर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एजेंडे में अंतरराष्ट्रीय विवाद माना गया है। इसका समाधान तभी निकल सकता है, जब संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में जनमत संग्रह हो। उससे जुड़ा कोई भी मामला भारत का अंदरूनी मसला नहीं हो सकता है।”

बता दें कि सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वह कह रहे हैं, “अनुच्छेद 370 हटने से कोई परेशानी नहीं है। यह पाकिस्तान के लिए अहमियत नहीं रखता है। यह भारत का अंदरूनी मामला है। हालाँकि, हमें 35ए हटाने पर आपत्ति है क्योंकि उससे भारत जनसांख्यिकी में बदलाव कर सकता है।”

बता दें कि पाकिस्तान की विपक्षी पार्टियों ने कुरैशी के इस बयान पर खूब विवाद खड़ा किया। पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता नवाज़ शरीफ के प्रवक्ता मोहम्मद जुबैर ने कहा, “यह बयान कश्मीर को लेकर देश के ऐतिहासिक रुख से पलटने वाला है। हमारा देश जम्मू-कश्मीर को हमेशा से विवादित क्षेत्र मानता आया है।”