समाचार
पाकिस्तान के वित्त मंत्री मानते हैं कि देश होने वाला है दिवालिया, बढ़ा ऋण का बोझ

पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद अमर ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तान का मूल्य ऋण बहुत ज़्यादा ऊँचाई पर पहुँच चुका है कि देश दिवालिया होने की कगार पर है। वित्त मंत्री ने यह बयान सोशल मीडिया के साथ पाक की अर्थव्यवस्था के संबंध में सवाल जवाब के विशेष सत्र में अमर ने कहा, “देश इतने भारी ऋण के बोझ के साथ अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास जा रहा है, हमें इस अंतर को कम करना होगा”, लाइव हिंदुस्तान  ने रिपोर्ट किया।

उन्होंने आगे कहा कि अगर हम पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज़ के समय के अंकों को देखें महंगाई दहाई अंकों में थी, हम शुक्रगुज़ार हैं कि अभी तक हम उस स्तर तक नहीं पहुँच पाए हैं।

जियो न्यूज़ के अनुसार उमर ने कहा “पहले देखें तो महंगाई ने समाज के हर वर्ग को समान रूप से प्रभावित किया था। यह सही है कि मंहगाई ने गरीबों पर अधिक असर डाला है, हमारे शासन में यह स्थिति भिन्न है, उच्च आय वर्ग की तुलना में गरीब पर महंगाई का अपेक्षाकृत कम प्रभाव हुआ है”।

उमर ने यह भी माना कि अर्थव्यस्था में मंदी के कारण पाकिस्तान में रोज़गार की दर धीमी हुई है।