समाचार
लाहौर के ऐतिहासिक गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने की योजना का भारत ने किया विरोध

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने मंगलवार (28 जुलाई) को एक ऐतिहासिक लाहौर के गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने की पाकिस्तान की योजना का ज़ोरदार विरोध दर्ज करवाया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, गुरुद्वारा शहीदी अस्थान, जहाँ अस्थाना भाई तारु जी ने 1745 में सर्वोच्च बलिदान दिया था। अब पाकिस्तान द्वारा उस पर मस्जिद शहीद गंज का दावा ठोंका जा रहा है। गुरुद्वारे का बहुत ऐतिहासिक महत्व है। यह वहाँ के अल्पसंख्यक सिख समुदाय का एक श्रद्धेय स्थल है।

इस मामले पर तत्काल कदम उठाते हुए विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की योजनाओं पर गंभीर चिंता व्यक्त की है। साथ ही इसको लेकर पाकिस्तान उच्चायोग के समक्ष अपना ज़ोरदार विरोध दर्ज करवाया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के हवाले से कहा गया, “भारत ने इस घटना पर अपनी चिंताओं को सबसे मजबूत शब्दों में व्यक्त किया। पाकिस्तान से इस मामले की जाँच करने और तत्काल सुधारात्मक उपाय करने को कहा है। पाकिस्तान को अपने धार्मिक अधिकारों और सांस्कृतिक धरोहरों की सुरक्षा सहित अपने अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए, ताकि वे अच्छे से रह सकें।”