समाचार
कार्यवाही का दिखावा? पाकिस्तान ने हाफिज़ के जमात-उद-दावा पर लगाया प्रतिबंध

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार ने जमातउददावा पर प्रतिबंध लगा दिया जिसका नेतृत्व मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफ़िज़ सईद करता है। इंडियन एक्सप्रेस  की रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने अपने चैरिटी विंग फलाहइन्सानियत फाउंडेशन पर भी प्रतिबंध लगा दिया।

यह कदम पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए पुलवामा हमले के बाद  उठाए गए हैं जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान वीरगति के प्राप्त हो गए थे।

यह निर्णय कथित तौर पर हमलों के मद्देनज़र प्रधानमंत्री कार्यालय में राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक के दौरान लिया गया था।

आतंरिक मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान में कहा, “बैठक के दौरान अभियोजन संगठनों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाने का निर्णय लिया गया। यह तय किया गया कि आंतरिक मंत्रालय द्वारा जमातउददावा और फलाहइन्सानियत फाउंडेशन को अभियुक्त संगठनों में शामिल किया जाएगा।

पिछले साल फरवरी में पाकिस्तान ने वित्तीय कार्रवाई टास्क फोर्स (एफएटीएफ) के दबाव में एक राष्ट्रपति पद से संबंधित अध्यादेश जारी किया जिसमें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा बहिष्कृत एवं आतंकवाद विरोधी अधिनियम के तहत सभी संगठनों के नाम शामिल किए गए हैं जिनमें जमातउददावा और फलाहइंसानियत फाउंडेशन भी शामिल हैं। हालाँकि पाकिस्तानी सरकार ने संसद के अगले सत्र में अध्यादेश जारी नहीं किया जिससे प्रभावी ढंग से प्रतिबंध लागू किया जा सके और यह लागू नहीं हो पाया।

पाकिस्तान के पिछले आम चुनावों के दौरान जमातउददावा ने अपने उम्मीदवारों को अल्लाहु अकबर तहरीक के बैनर तले मैदान में उतारा लेकिन एक भी सीट जीत नहीं पाया। 2008 के मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज़ सईद ने चुनाव प्रचार की रैलियों को संबोधित भी किया था।