समाचार
भारतीय नौसेना के पी-8आई विमान ने जासूसी करते हुए दो चीनी युद्धपोतों को ट्रैक किया

भारतीय नौसेना ने चीन को जासूसी करने पर रंगे हाथ पकड़ लिया है। भारतीय नौसेना के पी-8आई जासूसी विमान ने दो चीनी युद्धपोत को ट्रैक किया है। युद्धपोत जियान-32 को तब देखा गया, जब वह श्रीलंका की समुद्री सीमा में प्रवेश करने वाला था।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी लैंडिंग प्लेटफॉर्म डॉक जियान-32 को सितंबर माह की शुरुआत में श्रीलंका की समुद्री सीमा में प्रवेश करने से पहले दक्षिणी हिंद महासागर क्षेत्र से गुजरते हुए देखा गया। यही नहीं, भारतीय नौसेना ने चीन के एक और युद्धपोत को भी देखा, जो अदन की खाड़ी में तैनात चीन की एंटी पायरेसी एस्कॉर्ट टास्क फोर्स का हिस्सा है।

वर्तमान में हिंद महासागर क्षेत्र में चीन के 7 युद्धपोततैनात हैं। इनमें 27,000 टन से अधिक वजन का एक जहाज भी शामिल है। भारतीय नौसेना चीन के इन जहाजों को ट्रैक करने की कोशिश कर रही है। खासकर की तब जब वे भारतीय विशेष आर्थिक क्षेत्र और क्षेत्रीय जल के पास से गुज़रते हैं।

सूत्रों की मानें तो चीनी नौसेना ने अदन की खाड़ी में एंटी-पायरेसी ड्रिल को अंजाम देने के नाम पर इलाके में करीब 6 से 7 युद्धपोतों को तैनात किया है। ऐसे में वहाँ की जरूरत को देखते हुए यह तैनाती अधिक लग रही है। कहा जा रहा है कि चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएमएलए) की नौसेना अपना प्रभाव दिखाने के लिए हिंद महासागर क्षेत्र में अपनी शक्ति दिखा रही है।